गडगिल योजना : क्या है, क्यों है जरूरी, और क्या हैं इसके फायदे, gadgil yojana plan

गडगिल योजना  क्या है, क्यों है जरूरी, और क्या हैं इसके फायदे, gadgil yojana plan
गडगिल योजना क्या है, क्यों है जरूरी, और क्या हैं इसके फायदे, gadgil yojana plan

गडगिल योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है जिसका उद्देश्य देश के पश्चिमी घाट क्षेत्र में पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण करना है। यह योजना पर्यावरणविद् माधव गडगिल की सिफारिशों पर आधारित है।

गडगिल योजना के तहत पश्चिमी घाट क्षेत्र को तीन श्रेणियों में बांटा गया है:

  • इकोलॉजिकली सेंसिटिव एरिया (ईएसए): यह क्षेत्र पश्चिमी घाट का सबसे संवेदनशील क्षेत्र है। इसमें घने जंगल, नदियां, झीलों और पहाड़ शामिल हैं। ईएसए क्षेत्र में किसी भी तरह के विकास या निर्माण पर प्रतिबंध लगाया गया है।
  • मॉडरेटली डिस्टर्ब्ड एरिया (एमडीए): यह क्षेत्र ईएसए क्षेत्र की तुलना में कम संवेदनशील है। इसमें कुछ ऐसे क्षेत्र शामिल हैं जो पहले से ही मानवीय गतिविधियों से प्रभावित हुए हैं। एमडीए क्षेत्र में सीमित विकास की अनुमति है, लेकिन यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि पर्यावरण को कोई नुकसान न पहुंचे।
  • कल्चरल लैंडस्केप (सीएल): यह क्षेत्र पश्चिमी घाट का सबसे विकसित क्षेत्र है। इसमें गांव, शहर और कृषि भूमि शामिल हैं। सीएल क्षेत्र में विकास को बढ़ावा दिया जाएगा, लेकिन यह सुनिश्चित किया जाएगा कि पर्यावरण को कोई नुकसान न पहुंचे।

गडगिल योजना को लेकर कुछ विवाद भी है। कुछ लोगों का मानना है कि यह योजना बहुत कठोर है और इससे पश्चिमी घाट क्षेत्र के लोगों के जीवन पर बुरा असर पड़ेगा। वहीं, कुछ लोगों का मानना है कि यह योजना पर्यावरण की सुरक्षा के लिए जरूरी है।

गडगिल योजना के फायदे इस प्रकार हैं:

  • यह योजना पश्चिमी घाट क्षेत्र के पर्यावरण की सुरक्षा करेगी।
  • यह योजना जैव विविधता को संरक्षित करेगी।
  • यह योजना जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मदद करेगी।
  • यह योजना पश्चिमी घाट क्षेत्र के लोगों के जीवन स्तर को बेहतर बनाएगी।
मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना 8 लाख से अधिक युवाओं ने किया रजिस्ट्रेशन, mukhyamantri sikho kamao yojana

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना: 8 लाख से अधिक युवाओं ने किया रजिस्ट्रेशन, mukhyamantri sikho kamao yojana

भारत सरकार ने गडगिल योजना को अभी तक लागू नहीं किया है। हालांकि, सरकार ने इस योजना की समीक्षा करने के लिए एक समिति का गठन किया है। समिति की रिपोर्ट के आधार पर सरकार फैसला करेगी कि गडगिल योजना को किस तरह लागू किया जाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top